Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

Paytm संस्थापक विजय शेखर शर्मा की सफलता की कहानी - Success Story Of Vijay Shekhar Sharma

 

यह कहानी है एक ऐसे शख्स की जिसकी जेब में कभी चिल्लर बजा करती थी। जिसके पास कभी मैगजीन खरीदने के लिये पैसे नहीं थे. आज वह अरबपति है। और भारत की सबसे बड़ी कंपनी का मालिक है। उसकी किस्मत ने जब करवट ली तो वह मुकद्दर का सिकंदर बन गया। 12 महीने में ही इनकी संपत्ति 162% फीसदी बढ़ गयी। वो कहते हैं ना जब सितारे अपनी करवटें बदलते हैं। तब व्यक्ति का वक्त भी बदलता है।


Success Story Of Vijay Shekhar Sharma
 Vijay Shekhar Sharma

 आज यह शख्स उन लोगों के लिए एक मिसाल है। जो लोग जिंदगी से निराश हैं। और हरदम यह सोचते हैं कि यह काम हम से नहीं होगा। और  थोड़ी सी विपत्ति आने पर घबड़ा जाते हैं। उन लोगों को यह कहानी पूरी पढ़नी चाहिए।


यह कहानी है पेटीएम के संस्थापक विजय शेखर शर्मा की जो आज भारत देश के पहले ऐसे नौजवान है। जिसके दिमाग में Cashless Transaction का आईडिया आया। आज इन्होंने इंटरनेट को आम लोगों की जरूरत से जोड़ दिया है। विजय शेखर शर्मा ने इंजीनियरिंग कॉलेज में जो कंप्यूटर का ज्ञान हासिल किया वह किसी भी दायरे में उन्होंने बांधकर नहीं रखा बल्कि उन्होंने उसे उत्पाद के रूप में बाजार में उतारा।


जिंदगी जीने का नया तरीका शुरू करो पेटीएम करो

विजय शेखर शर्मा का प्रारंभिक जीवन 

विजय शेखर शर्मा की यह दास्तां उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ से शुरू हुई विजय शेखर शर्मा का जन्म 8 जुलाई 1972 को अलीगढ़ के एक मध्यवर्गीय ब्राह्मण परिवार में हुआ था। उनके पिता श्री सुलोमप्रकाश शर्मा एक सेवानिवृत्त स्कूल टीचर है और मां हाउसवाइफ है।विजय शेखर शर्मा के परिवार में दो बहने और एक छोटा भाई भी है।

विजय शेखर शर्मा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई अलीगढ़ के विजयगड़ से पूरी की थी। 9th क्लास में उन्हें दूसरा स्थान हासिल हुआ। उन्होंने क्लास 12th की परीक्षा में 15 वर्षों में ही उत्तीर्ण कर ली थी।



विजय शेखर शर्मा ने अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में दाखिला लिया लेकिन उन्हें Engineering के पहले पड़ाव पर निराशा हाथ लगी और वह इंटरव्यू में फेल हों गये। इसके बाद विजय ने 1 साल तक Engineering के लिए मेहनत की और Delhi College of Engineering में उन्हें एडमिशन मिल गया।

Paytm संस्थापक विजय शेखर शर्मा की सफलता की कहानी - Success Story Of Vijay Shekhar Sharma

लेकिन विजय हिंदी मीडियम से और यूपी बोर्ड से थे। और कॉलेज में अंग्रेजी मैं पढ़ाई होती थी। और कॉलेज में विजय को कुछ समझ नहीं आता था। इसके बाद विजय ने कंप्यूटर लैब ज्वाइन की और यहां वह कोडिंग सीखने लगे। जब विजय का कॉलेज में तीसरा साल चल रहा था तभी उन्होंने अपने कुछ दोस्तों के साथ मिलकर उन्होंने एक सॉफ्टवेयर कंपनी भी बनाई। यह कंपनी मीडिया हाउसेस के लिए कंटेंट बनाती थी।

यह वही समय था जब अमेरिका में कंपनी बनना स्टार्ट हो रही थी और तब विजय ने अमेरिका जाने का सोचा लेकिन उनके पास इतने पैसे नहीं थे।

इसके बाद विजय ने  नोएडा में अमेरिका की सॉफ्टवेयर कंपनी River Run मैं ₹17000 में नौकरी की तब  विजय की उम्र महज 21 साल थी। इस कंपनी में विजय ने मात्र 6 महीने ही नौकरी की।

विजय शेखर शर्मा की पहली कंपनी One97.COM  है। और इसी कंपनी ने Paytm को जन्म दिया है। विजय शेखर शर्मा ने ₹800000 की शुरुआत से One 97 की शुरुआत की। विजय शेखर शर्मा अपनी कंपनी One 97 के जरिए। मोबाइल फोन कंपनियों की वैल्यू एडिड सेवाएं लोगो मुहैया कराते थे।


साल 2011 में विजय शेखर शर्मा की कंपनी One 97 ने 100 करोड़ रुपए का कारोबार किया।


Paytm की शुरुआत

विजय शेखर शर्मा ने साल 2010 में Paytm.Com की स्थापना की उस समय  भारत के बाजार में  स्मार्टफोन  बहुत तेजी से  आगे बढ़ रहे थे। सबसे पहले Paytm ने DTH Recharge Or Prepaid Mobile Recharge किया। इसके बाद Paytm लोगों की जरूरत बन गया। 

Paytm से आप अपने मोबाइल का रिचार्ज कर सकते हैं, बिजली का बिल भर सकते हैं, पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। पेटीएम अपने ग्राहकों के लिए लगातार कुछ ना कुछ ऑफर देता रहता है। जिससे ग्राहकों को फायदा पहुंचता है और ग्राहक पेटीएम से जुड़ा रहता है।



Online Payment और Mobile कॉमर्स कंपनी Paytm आज एक ब्रांड बन चुकी है। एक ऐसे ब्रांड जिसने अपनी मार्केटिंग और बैंकिंग लाइसेंस के दम पर अमेजॉन , फ्लिपकार्ट को पीछे छोड़ दिया है। Paytm का कुल कारोबार 20,000 करोड़ रुपए तक पहुंच चुका है। Paytm के आज 100 मिलियन users है। आज पेटीएम भारत का सबसे बड़ा इकॉमर्स प्लेटफॉर्म बन चुका है।


निष्कर्ष - दोस्तों इस कहानी से हमें यह जानने को मिलता है कि कभी व्यक्ति को जिंदगी में हार नहीं माननी चाहिए चाहे मुसीबत कितनी भी बड़ी हो। उस मुसीबत का हमें हल ढूढ़ना चाहिए। 


दोस्तों विजय शेखर शर्मा की यह प्रेरणादायक कहानी आपको कैसी लगी आप हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताएं और इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों के पास शेयर कीजिए।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां