Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

CTET NCERT EVS Notes Of Class 3rd to 5th in Hindi || NCERT CTET EVS NOTES

दोस्तों यहां पर आज हम आपको CTET EXAM का सबसे महत्वपूर्ण Topic EVS के बारे में बताने वाले हैं। यदि आप भी CTET की तैयारी कर रहे हैं तो EVS आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है।

CTET में जितने भी क्वेश्चन पूछे जाते हैं वह सभी NCERT की किताब से ही पूछे जाते हैं। हम आपको NCERT BOOK से क्लास 3rd 4th and  के नोट्स देगे। जो आपके लिये CTET EXAM में काम आएगी

CTET NCERT EVS Notes Of Class 3rd to 5th in Hindi || NCERT CTET EVS NOTES



Class 3rd , 4th NCERT EVS Notes in Hindi


  • बांस और रस्सी के पुल का उपयोग असम में किया जाता है।
  • ट्रॉली का उपयोग लद्दाख में होता है।
  • लकड़ी की नाव का उपयोग केरल में किया जाता है।
  • ऊंट की गाड़ी का उपयोग राजस्थान में होता है।
  • उत्तराखंड में रास्ते उबड़ खाबड़ पाए जाते हैं।
  • पक्षियों की आंखें सर के पास होती हैं जिससे वह एक स्थान पर अच्छी तरह फोकस कर पाते हैं पक्षियों की आंखों की पुतलियां नहीं घूमती इस कारण पक्षी बार-बार अपनी गर्दन को हिलाते हैं।



  • पक्षियों व पशु के शरीर पर बालों से अलग-अलग प्रकार के पैटर्न बनते हैं। जैसे-टाइगर
  • जिन पशु-पक्षियों के कान बाहर होते हैं या दिखते हैं वह अपने बच्चे को जन्म देते हैं।
  • जिन पशु पक्षियों के कान बाहर नहीं होते हैं या दिखते नहीं है वह सिर्फ अंडे देते हैं।
  • मादा हाथी अपने झुंड की प्रमुख होती है सबसे बड़ी और वह अपने झुंड के आगे आगे चलती है।
  • नर हाथी 14 से 15 साल के बाद झुंड में नहीं रहता है।
  • एक हाथी 100 किलोग्राम तक खाना खा लेते हैं।
  • हाथी सिर्फ 2 से 4 घंटे तक ही सो पाते हैं।
  • हाथी अपने को ठंडा बनाए रखने के लिए कीचड़ का इस्तेमाल करते हैं वह इसे लेप की तरह लगाते हैं।
  • हाथियों के कान पंखे की तरह काम करते हैं जिन्हें वह हिला कर आसानी से अपने शरीर को ठंडक पहुंचाते हैं।
  • हाथियों के कान पंखे की तरह काम करते हैं।
  • हाथियों के झुंड में 10 से 12 मादा हाथी होते हैं और कुछ 14 साल से छोटे हाथी होते हैं।
  • खेजड़ी गांव राजस्थान के जोधपुर में स्थित है।
  • खेजड़ी गांव के लोग विश्नोई समाज के लोग होते हैं।
  • खेजड़ी पेड़ की लकड़ी में कीड़े नहीं पड़ते है।
  • वो चाचा गांव मुजफ्फरपुर बिहार में स्थित है।
  • रानी मधुमक्खी घर पर रहती है सिर्फ अंडे देती है और वह इनकी हेड होती है।
  • मेल मधुमक्खी सिर्फ आराम करते हैं।
  • गांधीधाम गुजरात के कक्ष में स्थित है।
  • अहमदाबाद और वलसाड गुजरात में स्थित है।
  • मडगांव गुजरात मे स्थित है।
  • कोजीकोड केरल में स्थित है।  मालाबार तट पर
  • गोवा से केरल के बीच 2000 पुल और 92 में सुरंग हैं।
  • गुजरात से केरल का ट्रेन रूट मैं महाराष्ट्र गोवा और कर्नाटक आते हैं।
  • कोटायम केरल का एक गांव है।
  • फेरी एक नाव है जिसका प्रयोग केरल में होता है।
  • कर्णम मल्लेश्वरी आंध्र प्रदेश से हैं यह आंध्र प्रदेश की रहने वाली हैं यह वेट लिफ्टिंग (भार उत्तोलक) करती हैं। कर्णम मल्लेश्वरी ने इंटरनेशनल लेवल पर 29 मेडल जीते हैं।
  • कर्णम मल्लेश्वरी 12 साल की उम्र से वेटलिफ्टिंग कर रही है यह 130 किलोग्राम तक वजन उठा सकती हैं इनकी चार बहने हैं जो वेटलिफ्टिंग करती हैं इनके पिता पुलिस कांस्टेबल है।
  • मधुबनी पेंटिंग बिहार में प्रसिद्ध है यह पेंटिंग चावल के आटे की बनाई जाती है इसमें प्राकृतिक कलर का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे - नीम ,  हल्दी , फूलों से बने हुए कलर
  • मधुबनी पेंटिंग में आदमी , पेड़ पौधे , पशु पक्षियों , मछली फूल-पत्तियों को दिखाया जाता है।
  • फूलों की घाटी उत्तराखंड में स्थित है। इन फूलों का इस्तेमाल कपड़े को ट्राई करने में क्या जाता है।
  • इत्र के लिए प्रसिद्ध उत्तर प्रदेश का कन्नौज जिला है यहां पर केवड़ा , गुलाबजल जैसे इत्र बनाए जाते हैं।
  • गिजूभाई बढ़ेगा गुजरात के हैं। यह बच्चों के लिए कहानियां लिखते थे।
  • इंडियन रोबिन सड़क के किनारे अंडे देती है।

  • कोयल बहुत ही चालाक पक्षी होता है यह कोई के घोसले में अंडे देती है और कोई अपने बच्चे समझकर कोयल की बच्चों को पालता है क्योंकि दोनों के अंडों में ज्यादा फर्क देखने को नहीं मिलता है लेकिन देखने पर कोयल के अंडे थोड़े छोटे होते हैं यह आवाज बड़ी ही सुरीली निकालते हैं।
  • पक्षी अपने घोंसले का इस्तेमाल अंडे देने के लिए करते हैं और बच्चे बड़े होने पर उन्हें छोड़ कर चले जाते हैं।
  • पक्षियों की आंखें सिर के दोनों तरफ होती हैं इनकी आंखों की पुतलियां नहीं घूमती हैं इसी वजह से यह अपनी गर्दन को बार-बार हिलाती है।
  • नल्लामंदा आंध्रप्रदेश में स्थित है।
  • भारत में 28 राज्य और 9 केंद्र शासित प्रदेश है। पहले भारत में 7 केंद्र शासित प्रदेश थे। लेकिन अब भारत में जम्मू कश्मीर और लद्दाख दो नए केंद्र शासित प्रदेश बनाए गए हैं।
  • हिलगुड़ी में भीमा संघ एक पंचायत है जहां बड़े लोगों के साथ बच्चे भी भाग लेते हैं।
  • बरगद का पेड़ ऐसा पेड़ होता है जिसकी जड़ें बाहर होती हैं।
  • डेजर्ट ओक पेड़ ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है। इस पेड़ की जड़ जमीन के बहुत अंदर होती है और यह पेड़ अपने तने में पानी को स्टोर कर लेता है।
  • चावल की नई फसल आने पर असम में माघ बिहू त्योहार मनाया जाता है जनवरी की 14 या 15 तारीख को इस त्यौहार में बांस का एक घर बनाया जाता है जिसे बाद में जला दिया जाता है।
  • मुक्तापुर गांव पोछमपल्ली जिले में स्थित है यह आंध्र प्रदेश में आता है यहां साड़ी बनाई जाती है यहां की दो प्रसिद्ध साड़ियां पोचमपल्ली और कालमकारी है।
  • अबू धाबी (UAE) यूनाइटेड अरब अमीरात में स्थित है अबू धाबी की करेंसी दिरहम है। भाषा अरेबिक है।
  • कुल्लू की साल बहुत फेमस होती है।
  • केरल में नारियल , पपीता , केला सिपाड़ी जैसी फसलें होती है।
  • खजूर का पेड़ रेगिस्तान में पाया जाता है इसे ज्यादा पानी की आवश्यकता नहीं होती है।
  • केरल में इलायची ,  काली , मिर्च , तेजपत्ता जैसे मसालों की पैदावार होती है।
  • बहीदा प्रिज्म भारत की पहली महिला हैं जिन्होंने परेड को लीड किया था एक परेड में 36 कमांड होते हैं।
  • लद्दाख में तिबेतन / भोति भाषा बोली जाती है।
  • लद्दाख में माता को "आमाले" ओर पिता को "आवाले" कहते हैं।
  • चींटी हमेशा झुंड में चलती है और अपने पीछे एक स्माइल छोड़ती है जिससे बाकी की चीटियां उसे फॉलो करती है।
  • रेशमी कीड़ा कई किलोमीटर से अपनी मादा कीड़े को सूंघकर ढूंढ लेता है।
  • मच्छर पैरों की गंध से आपको पहचान लेते हैं।
  • कुत्ते अपने एरिया को अपने यूरिन और पोटी से मार्क कर देते हैं।
  • पक्षियों के सर के दोनों साइड आंखें होती हैं पक्षी एक समय में दो जगह देख सकते हैं।
  • पक्षियों के कान छिद्र के रूप में होते हैं।
  • पक्षियों की आंखें बिल्कुल फिक्स होती है इसलिए पक्षी अपने सिर को बार-बार हिलाते हैं।
  • वाज , चील , गिद्ध पक्षी एक आम आदमी से 4 गुना ज्यादा देख सकते हैं हम 2 मीटर तक साफ देख सकते हैं लेकिन यह पक्षी 8 मीटर तक साफ देख सकते हैं।

  • एनिमल ज्यादा कलर नहीं देख सकते हैं जो एनिमल रात में जागते हैं उनको सब कुछ ब्लैक एंड वाइट दिखता है जैसे - उल्लू
  • सांप सूंघ नहीं सकते यह सिर्फ वाइब्रेशन को फील कर पाते हैं भारत में सिर्फ चार प्रकार के सांप पाए जाते हैं।
  • ज्यादातर पशु पक्षी अलग-अलग आवाज निकालते हैं यदि इनको खुशी है तो अलग साउंड ओर दुखी है तो अलग साउंड
  • भूकंप , सुनामी जैसे खतरे का जानवरों को पहले से ही पता लग जाता है यह अपने वातावरण से भलीभांति परिचित होते हैं।
  • स्लॉथ भालू के जैसा दिखने वाला जानवर है यह 17 घंटे सो सकते हैं यह पैरों पर उल्टे होकर सोते हैं और एक पेड़ की पत्तियों को खाने के बाद यह दूसरे पेड़ पर चले जाते हैं हफ्ते में एक बार पेड़ से नीचे स्लॉथ उतरते हैं स्लॉथ की आयु 40 वर्ष होती है और यहां अपना जीवन 8 पेड़ों पर गुजार देते हैं।
  • छिपकली सबसे लंबे समय तक सो सकती है। छिपकली सर्दियों में गायब ही जाती है।
  • गाय सिर्फ 4 घण्टे सोती है।
  • साँप सिर्फ 18 घण्टे सोता है।
  • जिराफ सिर्फ 2 घण्टे सो सकता है।
  • बिल्लियां सिर्फ 18 घण्टे सोती है।
  • टाइगर एक आदमी के मुकाबले 6 गुना ज्यादा देख सकता है। 
  • टाइगर की मूछें बहुत ही सेंसिटिव होती हैं यह अपनी मूंछों के द्वारा चीजों को भाप लेते हैं।
  •  टाइगर बहुत ही सतर्क जानवर है यह अपने शिकार का तुरंत पता लगा लेता है।
  • टाइगर की सुनने की क्षमता बहुत ही तेज होती है यह पत्तियों की खरखड़ा हट का भी पता लगा लेते हैं।
  • टाइगर की दहाड़ 3 किलोमीटर तक सोने जा सकती है।
  • हाथी को अपने दांतो के लिए टाइगर और स्नेक को उनकी खाल के लिए मार दिया जाता है और यह सब प्रजाति अब खतरे में है।
  • लेह लद्दाख में 2 मंजिल के घर पत्थरों से बने होते हैं भूततल जानवरों के लिए होता है और आवश्यक चीजों के भंडारण के लिए।
  • रेगिस्तानी ओक एक पेड़ है जो ऑस्ट्रेलिया में पाया जाता है।
  • सफेद बगुला भैंस की पीठ पर देखा जाता है और वह परजीवी ओं का शिकार करता है।
  • पक्षियों की आंखें स्थिर होती है इसलिए वे बार-बार अपनी गर्दन हिलाते हैं।
  • नेपेंथेस एक पौधा है जो जाल व कीड़े और चूहों को खाता है यह भारत में मेघालय में पाया जाता है।
  • एक ही फसल को बार-बार उगाने से मिट्टी बंजर हो जाती है।
  • गिलहरी अपने दांतो को जीवन पर्यंत तक बनाते रहती है।
  • मकड़ी झुंड में नहीं रहती है।
  • सागर महासागरों का पानी नमकीन होता है सबसे नमकीन पानी मृत सागर में पाया जाता है 1 लीटर पानी में 300 ग्राम नमक पाया जाता है। नमकीन पानी में कोई रोक नहीं सकता वह सतह पर तैरता रहता है।
  • मलेरिया की दवा सिनकोना / कुनैन की छाल से बनती है।
  • रोनाल्ड रॉस ने पता लगाया कि मच्छर से मलेरिया होता है।
  • मलेरिया फीमेल मच्छर के काटने से होता है।
  • आयरन की कमी से एनीमिया होता है आयरन गुड़ , आवला और हरी सब्जियों में पाया जाता है।
  • बरसात के मौसम में कई पानी से ऊपर आ जाती है।
  • पानी को साफ करने के लिए क्लोरीन का प्रयोग किया जाता है।
  • पानी में फिटकरी डालने पर पानी की गंदगी नीचे चली जाती है।
  • 1930 में गांधी जी ने दांडी यात्रा की और नमक कानून तोड़ा।
  • बछेंद्री पाल भारत की पहली महिला हैं जो माउंट एवरेस्ट की चोटी तक पहुंची और विश्व की पांचवीं महिला बनी माउंट एवरेस्ट नेपाल में स्थित है माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8900 किलोमीटर है।
  • बछेंद्री पाल नाकुरी गांव से है जो उत्तराखंड में स्थित है। बछेंद्री पाल ने ट्रेनिंग के लिए नेहरू इंस्टीट्यूट ज्वाइन किया जो उत्तरकाशी में स्थित है।
  • बछेंद्री पाल के गाइड का नाम ब्रिगेडियर ज्ञान सिंह था।
  • 1984 में माउंट एवरेस्ट को फतह करने के लिए बछेंद्री पाल को सिलेक्ट किया गया था।
  • बछेंद्री पाल माउंट एवरेस्ट की सबसे ऊंची चोटी सागरमाथा पर 1:07 पर पहुंची और वहां लगभग 45 मिनट तक रही।
  • एक पर्वतारोही को चढ़ते समय 90 डिग्री का एंगल बनाना होता है।
  • यदि हमें सर्दी में गर्म रहना है तो भरपूर मात्रा में विटामिन और आयरन लेना चाहिए।
  • टेकला गांव 1600 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है। जो झालावाड़ राजस्थान में स्थित है।







टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां