Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

UPSC क्या है और इसकी तैयारी कैसे करें ?

UPSC क्या है और इसकी तैयारी कैसे करें ?


दोस्तों आपको यह तो पता ही होगा कि UPSC भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है UPSC के लिए एक STUDENT कड़ी मेहनत करने के बाद ही UPSC के EXAM को क्लियर कर सकता है। UPSC में जाने के लिए कंपटीशन बहुत हाई लेवल का होता है यूपीएससी में जॉब लेने के लिए एक व्यक्ति अपनी आधी से ज्यादा उम्र इस एग्जाम को क्लियर करने में लगा देता है। इस पोस्ट को पढ़ने के बाद  आपको UPSC  के बारे में  पूरी जानकारी मिल जाएगी  तो इस पोस्ट को  पढ़ते रहिये।
UPSC क्या है और इसकी तैयारी कैसे करें ?

इस पोस्ट में हम यूपीएससी के प्रत्येक टॉपिक पर बात करने वाले हैं।


1. UPSC  क्या है ?
2. UPSC द्वारा आयोजित परीक्षा कौन-कौन सी  हैं ?
3. UPSC एग्जाम कौन दे सकता है ?
4. UPSC परीक्षा देने के लिए कितने मौके मिलते हैं ?
5. UPSC परीक्षा की प्रक्रिया क्या है ?
6. UPSC की तैयारी कैसे करें ?


UPSC क्या है ? ( What Is The Upsc )



Upsc से पहले हमें Psc के बारे में जानकारी होना चाहिये।
 PSC की स्थापना 1 अक्टूबर 1926 को की गई थी PSC के नियमो में बदलाव करके UPSC ( Union Public Service Commission ) की स्थापना भारत सरकार के अधिनियम 1935 के तहत की गई । UPSC के द्वारा IAS, IFS,IAS पदों की भर्ती की जाती है। यह भारत की एक केंद्रीय संस्था है।

Upsc को हिंदी में संघ लोक सेवा आयोग कहते हैं।


UPSC द्वारा आयोजित परीक्षा कौन-कौन सी है ?


संघ लोक सेवा आयोग भारत में लगभग 24 परीक्षाओं का आयोजन करवाती है इनमें से कुछ मुख्य परीक्षाएं हमने नीचे लिखी हैं। इन सभी एग्जाम में से आपको किस पद पर जाना है वह एग्जाम आप सिलेक्ट कर सकते हैं और उसी एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

Indian Administrative Service (IAS)
Indian Forest Service (IFS)
National Defence exam (NDA)
Combined service defence exam (CDSE)
Engineering Service examination (ESE)
Civil Service exam (CSE)

UPSC Exam कौन-कौन दे सकता है ?


वे स्टूडेंट जिन्होंने अपना ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया है या ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में है वे Student Upsc का एग्जाम दे सकते हैं।

Upsc में सामान्य वर्ग के लिए न्यूनतम उम्र सीमा 21 वर्ष और अधिकतम 32 वर्ष है। वही SC और ST वर्ग के लोगों के लिए उम्र में 5 वर्ष की छूट दी गई है। अन्य पिछड़ा वर्ग छात्रों के लिए उम्र सीमा में 3 वर्ष की छूट दी गई है।

Upsc Exam मैं बैठने के लिए सामान्य वर्ग के छात्रों को 6  चांस दिये  जाते हैं और वही ओबीसी के छात्रों को 9 चांस दिये जाते हैं, अन्य श्रेणी के छात्रों को असीमित चांस दिए जाते हैं वह कितनी भी बार इस परीक्षा में बैठ सकते हैं।

Upsc परीक्षा की प्रक्रिया ?


Upsc की परीक्षा तीन चरणों में ली जाती है।

1. प्रारंभिक परीक्षा - प्रारंभिक परीक्षा जून और जुलाई के महीने में आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में प्राप्त अंक फाइनल परीक्षा में नहीं जोड़े जाते हैं।

2. मुख्य परीक्षा - मुख्य परीक्षा में छात्रों को 9 पेपर देने होते हैं। प्रत्येक पेपर के लिए आपको 3 घंटे का समय मिलता है यह टोटल एग्जाम 1750 अंको का होता है।


मुख्य परीक्षा में जो आपका पहला पेपर होता है वह आप ही की भाषा में दिया जाता है हमें भारत की 18 भाषाओं में से एक भाषा का चयन करना होता है उस भाषा में हमें पेपर देना होता है। यह पेपर 300 अंकों का होता है।

दूसरा पेपर होता है इंग्लिश भाषा में यह सभी स्टूडेंट के लिये होता है यह पेपर भी 300 अंकों का होता है और इन दोनों पेपरों के अंक फाइनल परीक्षा में नहीं जोड़े जाते हैं।

तीसरा पेपर निबंध लेखन का होता है यह पेपर 250 अंकों का होता है इस पेपर के अंक फाइनल एग्जाम में जोड़े जाते हैं।

 5,6,7 जो पेपर होते हैं वह सामाजिक आर्थिक और अन्य मुद्दों पर होते हैं इन पेपरों से आपकी सूझबूझ को देखा जाता है आप किन परिस्थितियों में अच्छा काम कर सकते हैं। इसका अंदाजा लगाया जाता है।

पेपर क्रमांक  8 और 9  लिये 500 अंक निर्धारित  होते हैं और इन पेपरों के अंक  फाइनल एग्जाम में जुड़ते हैं


3. साक्षात्कार


जब आपके  दोनों पेपर  पास हो जाते हैं तो फिर आप का साक्षात्कार होता है साक्षात्कार फरवरी से अप्रैल के बीच में होती हैं। साक्षात्कार Upsc का सबसे अंतिम चरण होता है। साक्षात्कार भी 250 अंकों का होता है जो आपकी मेरिट लिस्ट में जोड़े जाते हैं। Upsc का इंटरव्यू हम किसी भी भाषा में दे सकते हैं।

Upsc की तैयारी कैसे करे ?


Upsc की तैयारी करना बहुत ही कठिन है कई लोग सालों की मेहनत करने के बाद भी UPSC को क्रेक नहीं कर पाते हैं इससे आप समझ ही गए होंगे कि UPSC एग्जाम को क्लियर करने के लिए आपको कितनी मेहनत करने की  आवश्यकता है।सबसे ज्यादा जरुरी है की आप  हमेशा अपने आप को मोटिवेट रखें।

देश में कई कोचिंग संस्थान है जो UPSC की तैयारी कराते हैं। इन कोचिंग संस्थानों में आपको पढ़ने का एक अच्छा माहौल मिलेगा साथ ही आपको कई वर्षों के पेपर और स्टडी मटेरियल भी कोचिंग की तरफ से मिलेगा।

हम आपको देश की Top Upsc कोचिंग संस्थानों के नाम बता रहे हैं।

1. BEST IAS COACHING IN DEHLI

2. TOP IAS COACHING IN HYDERABAD

3. BEST UPSC COACHING IN BANGALORE

4. TOP UPSC COACHING IN MUMBAI

5. IAS COACHING IN CHENNAI

6. UPSC COACHING IN KOLKATA

7. IAS COACHING OF PATNA

8. UPSC COACHING IN CHANDIGARH


Upsc क्लियर करने के लिए सबसे पहले आपको इसके  सिलेबस को पढ़ना और समझना चाहिए।

आपको कौन से विषय को विस्तार से पढ़ना है और किन विषयों को छोड़ना है यह तय कर लेना है। यदि आप मेहनती है तो सेल्फ स्टडी पर्याप्त है।

एक समय सारणी तैयार करें। क्योंकि समय सारणी के हिसाब से ही आप अपने वक्त का सबसे ज्यादा उपयोग कर सकते हैं।

NCERT की बुक को पढ़ें और नोट्स बनाते रहे। सप्ताह में एक बार मॉक टेस्ट जरूर लगाएं इससे आपको अपनी तैयारी का अंदाजा लग जाएगा।

रोजाना अखबार पढ़ें अखबार में कई करंट न्यूज़ आती है, जो आपको सफलता की तरफ खींचती है।

जो सब्जेक्ट आपका फेवरेट है या जिस सब्जेक्ट में आप मजबूत हैं उस सब्जेक्ट को सबसे आगे रखें।

सिलेक्टेड किताबों का यूज़ करें एक किताब को अच्छी तरह पढ़े जब तक कि उसका भावार्थ सही समझ में ना आ जाए।

सबसे लास्ट में मैं बताना चाहूंगा कि आत्मविश्वास बनाए रखें अपने दिल दिमाग को मजबूती प्रदान करें हमेशा अपने आप को मोटिवेटेड रखें। आज के समय में यह एक छात्र की निशानी है।


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां