Header Ads Widget

Ticker

6/recent/ticker-posts

Child Development And Pedagogy In Hindi (Part-1) - Varg 3 , Ctet

Child Development And Pedagogy In Hindi  - Varg 3 , Ctet  ( Part-1 )
Child Development And Pedagogy In Hindi
बाल-विकाश-शिक्षाशास्त्र

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब आप सभी लोगों की पढ़ाई अच्छी चल रही होगी


दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपके लिए Child Development And Pedagogy In Hindi के One Liner Question And Answer लेकर आए हैं जो आगे आने वाले Teaching Exam जैसे CTET ,UPTET ,MPTET , HTET ,REET सभी परीक्षा में आपके लिये महत्वपूर्ण होगी। हमे पूर्ण विश्वास है कि आप इस Post को पढ़ने के बाद अपने Dosto से जरूर शेयर करेगे !

चलिये तो शुरू करते हैं।
  • बाल मनोविज्ञान में अध्ययन किया जाता है - बालक के मन व स्वभाव
  • मानव विकास का अध्ययन मनोविज्ञान की जिस शाखा के अंतर्गत किया जाता है उसे कहते हैं -  बाल मनोविज्ञान
  • बाल मनोविज्ञान के द्वारा जब अध्ययन का क्षेत्र शैशवावस्था  से किशोर अवस्था तक होने लगा तो बाल मनोविज्ञान को कहा - बाल विकास
  • विश्व अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस मनाया जा रहा है - 1979
  • School Of Infancy की स्थापना किसने की - जोहन अमोस कमेनियस
  • बालक के विकास का प्रथम बार वैज्ञानिक विवरण दिया - पेस्टालॉजी
  • अमेरिका में बाल अध्ययन आंदोलन के जन्मदाता थे - स्टैनले हॉल
  • भारत में बाल विकास के अध्ययन की शुरुआत - 1930 कोलकाता विश्वविद्यालय
  • बाल विकास में अध्ययन का क्षेत्र है - जन्म पूर्व अवस्था से परिपक्वावस्था तक
  • बाल विकास मैं अध्ययन किया जाता है - गर्भावस्था के परिपक्वावस्था तक
  •  बालग्रह की स्थापना की गई - (1887)अमेरिका
  • मनोविज्ञान पर सर्वाधिक पुस्तकें लिखने वाले वैज्ञानिक हैं - जीन पियाजे 32 पुस्तक
  • बालक की अध्ययन संबंधी प्रथम पत्रिका का प्रकाशन किया था - स्टैनले हॉल
  • प्रथम बाल निर्देशन क्लीनिक खोला - विलियम हिली 1909
  • बाल मनोविज्ञान में अध्ययन किया जाता है - गर्भावस्था से बाल्यावस्था
  • बाल विकास में अध्ययन का क्षेत्र है - गर्भावस्था से किशोरावस्था
  • अभिवृद्धि व विकास की प्रक्रिया प्रारंभ हो जाती है - बालक के गर्भाधान से
  • मानव विकास का प्रारंभिक काल माना गया है - बाल विकास
  • मानव विकास के सभी पहलुओं का अध्ययन होता है - विकासात्मक मनोविज्ञान
  • शारीरिक अंगों में होने वाली वृद्धि है - अभिवृद्धि
  • मनुष्य के शारीरिक मानसिक संवेगात्मक सामाजिक परिवर्तन दर्शाते हैं - विकास 
  • विकास का संबंध है - अभिव्रद्धि
  • बालक की सीने में स्थित ग्रंथि को कहते हैं - थाइमस ग्रंथि
  • बालक के मस्तिष्क के पास स्थित ग्रंथि है - पीनियल ग्रन्थि
  • बालक भ्रूण अवस्था से प्रौढ़ावस्था तक गुजरता है इसे कहा जाता है - विकास
  • वृद्धि शब्द का प्रयोग होता है - कोशीय व्रद्धि के लिये
  • शरीर के समस्त अंगों में आए परिवर्तन को कहते हैं - विकाश
  • एक निश्चित आयु तक चलने वाली प्रक्रिया को कहते हैं - अभिवृद्धि
  • विकास होता है - आंतरिक एवं बहुपक्षीय , स्वतंत्र एवं चहुमुखी
  • बालक का विकास सिर से पैर की ओर होता है इसे कहा गया है - मस्तबोधमुखी विकास / सिफ़ॉलोकोडल
  • जब बालक का विकास केंद्र से सिरों की ओर होता है तो कहा जाता है - प्रॉक्सिमोडिस्टल
  • बालक के विकास का क्रम है - शैशवावस्था ,बाल्यावस्था ,किशोरावस्था
  • बालक का विकास किस रूप में होता है - वर्तुलाकार ( लंबाई के साथ चौड़ाई का बढ़ना )
  • बीजाअवस्था में एक बालक किस पदार्थ को आहार के रूप में ग्रहण करता है - योक नामक पदार्थ
  • पिण्डावस्था को कितने भागों में बांटा गया है - 3 भागो में एकटोडर्म ,मेसोडर्म ,एंडोडर्म
  • शिशु की स्वाद इंद्रियां विकसित होती है - गर्भावस्था के तीसरे माह में
  • गर्भावस्था की अवधि सामान्यतया है - 270-280 दिन
  • शैशवावस्था है - जन्म से 6 वर्ष
  • बालक के भावी जीवन की आधारशिला का काल है - शैशवावस्था
  • बीसवीं शताब्दी को बालक की शताब्दी किसने कहा - क्रो एवं क्रो
  • अनुकरण द्वारा सीखने की अवस्था है - शैशवावस्था
  • अतार्किक चिंतन की अवस्था है - शैशवावस्था
  • शैशवावस्था को सीखने का आदर्श काल कहा - वैलेंटाइन
  • बालक के हाथ पैर व नेत्र उसके प्रारंभिक शिक्षक है,यह कथन है - रूसो
  • बालकों के सभी संवेग विकसित हो चुके होते हैं - शैशवावस्था
  • शैशवावस्था में सर्वाधिक सक्रिय संवेग है - भय
  • माता के गर्भ से बाहर आने पर शिशु बाहरी वातावरण के अनुकूल न होने से बीमार हो जाता है,इसे कहा गया है - अधिगम कठिनाई काल

दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो प्लीज इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ Whatsapp And Facebook पर शेयर करें ! और हमें कमेंट करके बताएं आपको यह पोस्ट कैसी लगी Thanks!
                                      




टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां